नई दिल्ली. प्रधानमंत्री कार्यालय ने खुद पहल करते हुए अपने कर्मचारियों की सैलरी को पब्लिक कर दिया है. यह पहल सूचना के अधिकार को ध्यान में रख कर की गयी. पीएमओ के सभी कर्मचारियों में भास्कर खुल्बे सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले शख्स हैं. भास्कर खुल्बे प्रधानमंत्री के सेक्रटरी और 1983 के बैच के आईएएस अधिकारी हैं.
 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर


 
भास्कर खुल्बे को पिछले हफ्ते ही प्रधानमंत्री का सेक्रटरी बनाया गया है. इससे पहले वह अतिरिक्त सचिव के पद पर तैनात थे. भास्कर खुल्बे के बाद प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा, अतिरिक्त प्रधान सचिव पी. के. मिश्रा और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल 1,62,500 रुपये सैलरी के तौर पर लेते हैं.
 
पीएमओ द्वारा किये गए खुलासे के अनुसार जनसम्पर्क अधिकारी को हर महीने 99,434 और पोस्टेड इन्फर्मेशन ऑफिसर शरत चंदर को 1.26 लाख रुपये की सैलरी मिलती है। इसके अलावा संयुक्त सचिवों में ए.के. शर्मा को 1,73,250 रुपये, अनुराग जैन को 1,76,250 रुपये और तरुण बजाज को सबसे ज्यादा 1,77,750 रुपये सैलरी मिलती हैं.
 
बता दें कि इस से पहले मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री रहते भी पीएमओ ने अपने कर्मचारियों का वेतन पब्लिक किया था.  

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App