लखनऊ. अखाड़ा परिषद के पूर्व अध्यक्ष और हनुमानगढ़ी के मंहत ज्ञानदास ने मंदिर मुद्दे पर बीजेपी का नाम लिए बिना निशाना साधा. उन्होंने कहा कि दुकान चलाने वाले अयोध्या में क्या मंदिर बनाएंगे. लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ एक कार्यक्रम में शामिल हुए मंहत ज्ञानदास ने समाजवादी पार्टी को चुनाव में जीतने का आशिर्वाद दिया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मंहत ज्ञानदास ने कहा कि हमें ऐसा राम मंदिर नहीं चाहिए जो खून के दाग से बने, हमें दूध से बनने वाला मंदिर चाहिए. उन्होंने खुलासा किया कि बाबरी मस्जिद के मुद्दई हाशिम अंसारी और हम आपस में बातचीत से अयोध्या विवाद के हल के लिए तैयार हो गए लेकिन दुकान बंद हो जाने के डर से विश्व हिंदू परिषद ने इसे परवान नहीं चढ़ने दिया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
उन्होंने आगे कहा कि पूरे देश में कुछ लोग राम मंदिर के नाम पर राजनीतिक रोटी सेंक रहे हैं, साधु समाज इसे बर्दाश्त नहीं करेगा. हिंदुस्तान में रहने वाले सभी हिंदुस्तानी हैं. हिंदू, मुसलिम, सिख, ईसाई आपस में भाई हैं. सबमें ईश्वर का वास है. हिंदू-मुस्लिम को लड़ाने की बात कुछ कट्टरपंथी करते हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App