नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले से बीजेपी गदगद है. दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने ट्वीट कर कहा है कि हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आईना दिखाया है. ये फैसला अराजकतावादी मुख्यमंत्री के चेहरे पर तमाचे की तरह है. केजरीवाल को सामने आना चाहिए और माफी मांगनी चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दिल्ली हाईकोर्ट ने उप-राज्यपाल के पक्ष में फैसला सुनाते हुए कहा था कि दिल्ली सरकार उप-राज्यपाल का हर फैसला मानें. हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्ली पूर्ण राज्य नहीं है, उप-राज्यपाल ही दिल्ली के प्रशासनिक मुखिया हैं. हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्ली सरकार की सलाह पर उप-राज्यपाल काम करने को बाध्य नहीं है. उप-राज्यपाल की सलाह पर ही दिल्ली सरकार फैसला ले, दिल्ली के फैसले लेने के लिए उप-राज्यपाल के पास ही संवैधानिक अधिकार है. उप-राज्यपाल की अनुमति से ही दिल्ली सरकार फैसला ले सकती है. 
 
शीला ने HC के फैसले को बताया सही
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने हाईकोर्ट के फैसले को सही बताते हुए कहा कि दिल्ली की जनता की भलाई के लिए केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार मिलकर काम करें.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्या था मामला ?
बता दें कि सत्ता में आने के बाद से ही केजरीवाल का एलजी और केंद्र से कई मसलों पर विवाद होता रहा है. इसमें जमीन और पुलिस खासतौर पर हैं, जहां पर दोनों कई बार जमकर टकराव हुआ है. दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त नहीं है यानी पुलिस और जमीन जैसे अहम विभाग केंद्र सरकार द्वारा चलाए जाते हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App