नई दिल्ली. नोएडा एक्सप्रेस-वे पर बने इमरेल्ड कोर्ट टावर को लेकर बिल्डर सुपरटेक को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. कोर्ट ने कहा है कि खरीदार अगर पैसा वापस चाहता हैं तो बिल्डर को वापस करना होगा.  
 
इसके अलावा कोर्ट ने NBCC (नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन) को इस मामले में टावरों का निरीक्षण करके रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है. इसके लिए कॉरपोरेशन को चार हफ्तों का समय दिया गया है.
 
कोर्ट ने NBCC से कहा है कि वह इमरेल्ड कोर्ट के बारे में सारी जानकारी दे और यह भी बताए कि कोर्ट के निर्माण में नियमों का पालन हुआ है या नहीं. 
 
बता दें कि पहले यह मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में गया था, कोर्ट ने इसे गिराने का आदेश दिया था.
 
सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में सुपरटेक कंपनी को बड़ा झटका देते हुए कहा था कि कंपनी को सोमवार तक 5 करोड़ रुपये सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री में जमा करवाने होंगे. कोर्ट ने यह भी शर्त रखी थी कि जब तक पैसे नहीं जमा कराए जाएंगे तब तक सुपरटेक की याचिका पर सुनवाई नहीं होगी.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App