नई दिल्ली. केंद्रीय जांच ब्यूरो ने रिश्वत के आरोप में भारतीय कॉरपोरेट मंत्रालय के डायरेक्टर जनरल समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक 9 लाख की रिश्वत के चलते इन लोगों को गिरफ्तार किया है साथ ही सीबीआई ने करीब 72 लाख रुपये जब्त किए हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस बीच डीजी को दो दिन की सीबीआई कस्टडी में भेज दिया गया है, वहीं एक आरोपी को 5 दिन की, और बाकी को दो दिन की पुलिस कस्टडी पर भेजा गया है. जानकारी के अनुसार सीबीआई ने 8 ठिकानों पर छापेमारी की जिसमें उन्हें डीजी के यहां से 56 लाख रुपये बरामद हुए वहीं दिल्ली के रहने वाले आरोपी के यहां से 16 लाख रुपये बरामद किए.
 
क्या है मामला ?
रिश्वत के एक्ट 1988 के सेक्शन 7 और 12 के तहत इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. जानकारी के अनुसार मुंबई की दवा कंपनी ने नियमों का उल्लघंन किया और इसी मामले को दबाने के लिए कंपनी ने दिल्ली के रहने वाले आरोपी से सांठगांठ की. 
जानकारी के अनुसार वह आरोपी कंपनी के लिए बतौर डिस्टीब्यूटर काम भी कर रहा था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस बीच डीजी ने जांच न करवाने के लिए 50 लाख रुपये रिश्वत की मांग की लेकिन मीडिएटर बने शख्स ने अफसर को 20 लाख रुपये में मना लिया. खबर है कि अफसर 11 लाख रुपये ले चुका था लेकिन दिल्ली के एक होटल में बाकी बचे हुए 9 लाख रुपये लेते हुए अफसर को सीबीआई ने रंगे हाथों पकड़ लिया.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App