नई दिल्ली. सूत्रों से पता चला है कि पाकिस्तान से करीब 200 आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की फिराक में हैं. 200 आतंकी लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन, हरकत-उल-मुजाहिद्दीन और जमात-उद-दावा के हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आतंकी घुसपैठ के लिए ढोंग, नाला और दरिया इलाके का इस्तेमाल कर उपयोग कर रहे हैं. ये आतंकी अमरनाथ यात्रा को भी निशाना बना सकते हैं.
 
 
 
ग्रुप में शामिल नए आतंकवादियों को हमले करने और सुरक्षा बलों को निशाना बनाने का टास्क दिया गया है, जबकि पुराने या भरोसेमंद आतंकवादियों को पथराव और भीड़ एकत्र करने को कहा गया है. आतंकी संगठन हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत को भी भुनाने में लगे हुए हैं. वे इससे युवाओं को आतंकी गतिविधियों में शामिल करना चाहते हैं.
 
 केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को जम्मू-कश्मीर में आंतरिक सुरक्षा और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से हाईलेवल बैठक बुलाई है.  इस बैठक में गृह सचिव, संयुक्त सचिव (कश्मीर डिविजन), आईबी चीफ और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं. वहीं रविवार को राजनाथ सिंह का जन्मदिन भी है लेकिन कश्मीर में हुई मौतों के बाद उन्होंने इसे नहीं मनाने का फैसला किया है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App