बैंगलुरू. एक लंबे इंतजार के बाद 1 जुलाई को तेजस विमान भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने जा रहा है. इसका पहला स्क्वाड्रन सिर्फ 2 विमानों के साथ शुरु किया जा रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बहरहाल दो विमानों को वायुसेना के बेड़े मेंं शामिल किया जा रहा है, वहीं साल के अंत तक 4 और विमानों को शामिल करने की योजना है. वहीं साल 2017 तक 6 और एयरक्राफ्ट लॉन्च होंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
एयरक्राफ्ट हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) से कुल 120  तेजस विमान खरीदे गए हैं. एक स्क्वाड्रन 20 तेजस विमानों से बना होगा, जिसमें 4 रिजर्व होंगे, जो कि मिग-21 को रिप्लेस करेंगे. तेजस स्क्वाड्रन का बेस कोयंबटूर के निकट सुलु में है, लेकिन शुरुआती दो सालों में इसका संचालन बैंगलुरू से किया जाएगा.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App