नई दिल्ली: आगामी लोकसभा 2019 चुनावों के लिए सभी पार्टियों ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है. इस बीच खबर है कि बिहार के बेगूसराय सीट से दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयूएसयू) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार महागठबंधन के उम्मीदवार होंगे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वह कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) के निशान पर लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कन्हैया कुमार के सामने भाजपा के राकेश सिन्हा चुनाव मैदान में उतर सकते हैं. दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, लेखक और टीवी चैनलों पर संघ तथा बीजेपी के पक्ष में आवाज मुख करने वाले राकेश सिन्हा को कुछ ही समय पहले राज्यसभा सांसद बनाया गया था.

लोकसभा चुनाव में बेगूसराय सीट को लेकर राकेश सिन्हा ने ट्वीट कर कहा कि , कुछ वामपंथी मेरे भविष्य को लेकर ट्विटर पर बहुत चिंतित हैं. वे बेगूसराय के लोकसभा चुनाव की भविष्यवाणी करते हुए मन भर गाली दे रहे हैं. इतना समय और ऊर्जा वे मार्क्स को भारतीय संदर्भ में समझने में लगाते तो शायद उनकी मानसिक उन्नति होती. बेगूसराय में भगवा बयार उन्हें दिखाई नही पड़ रहा है.

वर्तमान में इस सीट पर बीजेपी का कब्जा है. भोला सिंह बेगूसराय सीट से भाजपा के सांसद हैं. लेकिन इस बार उनका टिकट कट सकता है. राकेश सिन्हा दिल्ली स्थित थिंक टैंक ‘इंडिया पॉलिसी फाउंडेशन’ के संस्थापक और मानद निदेशक हैं. राकेश सिन्हा टेलीविजन पर होने वाली डिबेट में आरएसएस विचारक के तौर पर नजर आते रहे हैं. 2019 लोकसभा चुनावों के लिए सभी विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार के खिलाफ रणनीति बनानी शुरू कर दी है.

भारतीय लोकतंत्र और विपक्ष के लिए 2019 लोकसभा चुनाव आखिरी मौका: अरुण शौरी

2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और राहुल गांधी की चुनावी रणनीति में इमोशनल टच देंगे हार्वर्ड के प्रोफेसर स्टीव जार्डिंग!

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App