नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली को देश के शहरों और कस्बों के लिए मॉडल माना जाता है, क्योंकि ये देश की राजधानी है. दिल्ली पुलिस और दिल्ली की तिहाड़ जेल का नाम सुनकर ही कभी अपराधी कांपने लगते थे, लेकिन अब दिल्ली में गुंडों और बदमाशों को पुलिस का कोई डर नहीं है. दिल्ली के इंडिया गेट पर एक परिवार घूमने आया था, साथ में छोटे बच्चे भी थे. इंडिया गेट पर बच्चों को बैटरी से चलने वाली बाइक पर सैर कराने वालों का पूरा झुंड रहता है. जामा मस्जिद इलाके से आए मोहम्मद फैजल ने अपने बच्चे को एक बाइक पर बैठाया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
फैजल का आरोप है कि बाइक की बैटरी खत्म हो गई थी, इसलिए जब उन्होंने बच्चे को दूसरी बाइक पर बैठाना चाहा, तो बाइक वाला उनसे मारपीट पर उतारू हो गया. थोड़ी सी कहासुनी के बाद बाइक वाला गया और अपने 30-35 साथियों के साथ लौटा. इस झुंड ने फैजल और उनके परिवार को बुरी तरह पीटा. यहां तक कि दुधमुंही बच्ची को भी.
 
सवाल उठ रहा है कि इस गुंड़ा गर्दी को कौन छूट दे रहा है? आखिर क्या कर रही है दिल्ली पुलिस ? इंडिया न्यूज के खास शो बड़ी बहस में आज इसी अहम मुद्दे पर पेश है चर्चा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो
 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App