मुंबई. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खड़से के पूणे जमीन घोटाले से जुड़े मामले में महाराष्ट्र सरकार और संगठन से रिपोर्ट मांगी है. वहीं पार्टी के अंदर भी खड़से पर कार्रवाई की मांग उठने लगी है. एकनाथ खड़से ने चार दिन पहले महाराष्ट्र के प्रभारी सरोज पांड्ये से मिलकर अपनी सफाई दी थी. इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस दिल्ली आ रहे हैं. 
 
हटाया जा सकता है मंत्री पद से
सूत्रो से पता चला है कि फडणवीस, प्रदेश अध्यक्ष और प्रभारी सरोज पांडेय तीनों ही खड़से पर रिपोर्ट जल्द ही भेजेंगे. सूत्रो से ये भी पता चला है कि खड़से की सफाई से वे संतुष्ट नहीं होने पर मंत्री पद से भी हटाया जा सकता है. 
 
क्या है ये मामला?
एकनाथ खडसे पर आरोप है कि उन्होंने एमआईडीसी की जमीन को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर खरीदा. खडसे की पत्नी मंदाकिनी और दामाद गिरिश चौधरी ने मिलकर इस साल अप्रैल में पुणे में तीन एकड़ की जमीन खरीदी थी और 3.75 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया. इसके लिए 1.37 करोड़ रुपये स्टांप ड्यूटी के तौर पर चुकाए गए थे. असलियत यह है कि इतनी डयूडी 31.01 करोड़ की डील पर चुकाई जाती है. अब यह सवाल उठ रहा है कि खडसे ने इतनी ज्यादा स्टांप ड्यूटी क्यों दी?
 
ये भी आरोप हैं खडसे पर
एकनाथ खडसे पर आरोप लगे हैं कि उन्हें अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का फोन आया था. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. वहीं, उन्हें अपने पैतृक जिले जलगांव में बिना बत्ती वाली कार में घूमते देखा गया. जिसके बाद कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं.
 
मुस्लिम संगठनों का है समर्थन
एकनाथ खड़से के समर्थन में कई मुस्लिम संगठन भी सामने आ रहे हैं. गुरुवार को कुछ संगठन ने आजाद मैदान पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया है, जिसमें वे खड़से का सम्मान करेंगे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App