जम्मू. जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि जो कश्मीरी पंडित राज्य से मजबूरन पलायन कर चुके हैं उन्हें बाइज्जत वापस लाया जाएगा और वह भी यहां पर पहले की ही तरह मिलकर रहेंगे. शनिवार को विधानसभा में महबूबा ने कहा कि यहां से पलायन कर चुके कश्मीरी पंडित भी सभी के साथ मिलकर राज्य को आगे बढ़ाने में सहयोग देंगे. इसके अलावा उन्होंने विधानसभा को इस बारे में किए जा रहे सरकार के प्रयासों की भी जानकारी दी.
 
सैनिक कॉलोनी के लिए नहीं मिली जगह
उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक सैनिक कॉलोनी बनाने के लिए कहीं कोई जगह नहीं मिली है. उनका कहना है कि मौजूदा सरकार ने राज्य में सैनिक कॉलोनी बनाने के लिए जगह तलाशने के आदेश दिए थे, लेकिन अब तक जगह नहीं मिल सकी है.उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में इस पर काम किया गया था, लेकिन सरकार के रहने तक इसको पूरा नहीं किया जा सका, लिहाजा यह उनके जिम्मे आया है. उन्होंने साफ किया है कि सैनिक कॉलोनी बाहरी लोगों के लिए नहीं बल्कि राज्य के लोगों के लिए ही होगी.
 
राहुल गांधी कहां चले जाते हैं?
महबूबा मुफ्ती ने विधानसभा में कहा, मुझपर ताना मारा जाता है कि आप बीजेपी के साथ क्यों गए? हमारी दिक्कत ये है कि जम्मू कश्मीर को फुटबॉल बनाया गया है. NIT मामले में राहुल गांधी ने कहा कि हम मामला उठाएंगे लेकिन जब किसी कश्मीरी पर देश में मसला उठाया जाता है तो राहुल गांधी कहां चले जाते हैं?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App