नई दिल्ली. भारत ने देश में विकसित और परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम पृथ्वी-2 मिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर स्थित केंद्र से सफल परीक्षण किया. यह परीक्षण सेना के यूजर ट्रायल के रूप में किया गया. वैज्ञानिकों की मौजूदगी में यह परीक्षण सेना की ओर से किया गया.
 
इसके पहले 15 मई को बहुस्तरीय बैलेस्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली हासिल करने के प्रयास के तहत भारत ने स्वदेशी सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था. यह मिसाइल उसकी ओर आने वाली किसी भी शत्रु बैलेस्टिक मिसाइल को नष्ट करने की क्षमता रखती है.
 
रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के सूत्रों ने बताया, ‘उड़ान की स्थिति में इंटरसेप्टर के कई मानकों का सत्यापन करने के लिए यह परीक्षण किया गया जो सफल रहा है.’ इस इंटरसेप्टर के लिए पृथ्वी मिसाइल के नौसैन्य संस्करण को लक्ष्य के तौर पर स्थापित किया गया. इस लक्ष्य को बंगाल की खाड़ी में खड़े जहाज से छोड़ा गया था.