नई दिल्ली. पठानकोट हमले से संबंधित संसदीय कमेटी की रिपोर्ट में केंद्र सरकार पर सवाल उठे हैं. रिपोर्ट में बताया गया कि आतंवादियों के घुसने की वजह होम मिनिस्ट्री और खुफिया एंजेसियों में तालमेल की कमी होना था.
 
मंगलवार को कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ”हमारी काउंटर टेरर सिक्युरिटी स्टेबलिशमेंट में कुछ बड़ी खामियां थीं.” अलर्ट होने के बाद भी सिक्युरिटी एजेंसियां और मिनिस्ट्री इसे रोक नहीं पाए. मंगलवार को संसद के पटल पर रखी गई इस में रिपोर्ट में सवाल किया गया कि ”आतंकी फेंसिंग और बीएसएफ की लगातार पैट्रोलिंग के बाद भी बॉर्डर के इस पार कैसे आ गए.”
 
रिपोर्ट में कहा गया, ”ये समझ से परे है कि एडवांस अलर्ट के बाद भी हाई सिक्युरिटी वाले एयरबेस में आतंकी आने में कैसे कामयाब रहे और उन्होंने इसपर हमला भी किया.”
 
बता दें कि पठानकोट के एयरबेस में 2 जनवरी को आतंकवादियों ने घुसपैठ कर हमला किया था. इस हमले में सेना के सात जवान शहीद हो गए थे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App