नई दिल्ली. अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील पर विवाद बढ़ने के कारण भारत की एजेंसिया कदम उठाने लगी है. जानकारी के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व वायुसेना अध्यक्ष एसपी त्यागी से पूछताछ के लिए समन जारी किया है.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक त्यागी को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट के तहत समन भेजा गया है और उन्हें अगले हफ्ते हाजिर होने को कहा गया है. ईडी इस डील में रिश्वत की रकम के प्रवाह को ट्रैक करने में लगी है. आरोप हैं कि एसपी त्यागी के दो भाइयों को भी ये रकम पहुंचाई गई. इस बीच खबर है कि ईडी त्यागी से पूछताछ करेगी कि आखिर उनके भाइयों को ये रकम क्यों और कैसे पहुंचाई गई.
 
बता दें कि इस डील में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं और इस पर संसद में भी हंगामा छिड़ा हुआ है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया. बुधवार को राज्यसभा में सोनिया का नाम लेते ही कांग्रेस सांसद वेल में आकर विरोध करने लगे. इसके बाद कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित हो गई.
 
क्या है मामला?
यूपीए-1 सरकार के वक्त 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलीकॉप्टरों की खरीद की डील हुई थी. डील के तहत मिले 3 हेलिकॉप्टर आज भी दिल्ली के पालम एयरबेस पर खड़े हैं. इन्हें इस्तेमाल में नहीं लाया गया. डील 3,600 करोड़ रुपए की थी. टोटल डील का 10% हिस्सा रिश्वत में देने की बात सामने आई थी.
 
इसके बाद यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में डील रद्द कर दी थी. तब एयरफोर्स चीफ रहे एसपी त्यागी समेत 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था. जिस मीटिंग में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे. इस वजह से कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App