पटना. उत्तराखंड में कोर्ट ने राष्ट्रपति शासन हटा दिया है और रावत सरकार 29 अप्रैल को राज्य में अपना बहुमत साबित करेगी. कोर्ट के फैसले के बाद विरोधी पार्टियां केंद्र पर तंज कस रही है.
 
इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपना पक्ष रखा. नीतीश ने कहा कि केंद्र के सारे गलत तरीके फेल हो गए लेकिन वे सत्ता में रहने के लिए कुछ भी करेंगे.
 

नीतीश ने आगे कहा कि ये उन लोगों के लिए खुशी का माहौल है जो लोग लोकतंत्र में विश्वास रखते हैं. साथ ही हाईकोर्ट का उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन हटाना केंद्र सरकार को करारा जवाब मिलना है. हम फैसले का स्वागत करते हैं.