रांची: झारखंड के बोकारो, हजारीबाग और चतरा जिले में रामनवमी के जुलूस के दौरान दो समुदाय में हिंसक पथराव हो गया. इस पथराव में एक व्यक्ति की मौत हो गयी, जबकि कई लोग घायल हो गये. घायलों में उपायुक्त व कई पत्रकार भी शामिल हैं. पथराव के दौरान एक मजिस्ट्रेट और चार पुलिसकर्मियों सहित 19 लोगों के जख्मी हो जाने के बाद चार थाने के इलाके में कल (शुक्रवार) कर्फ्यू लगा दिया गया. मिली जानकारी के अनुसार आज शाम को एक रिव्यू के बाद यह निर्णय लिया जाएगा कि कर्फ्यू कब तक लगा रहेगा.
 
उपायुक्त आर एम पातरे ने कहा कि शिवानडीह के नजदीक रामनवमी के जुलूस पर हमले के बाद बालीडीह, माराफारी, सेक्टर 12 और बोकारो स्टील सिटी में कर्फ्यू लगा दिया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े. घटना तब हुई जब अज्ञात लोगों ने रामनवमी के जुलूस पर पथराव किया.
 
क्यों हुआ हंगामा ? 
बोकारो जिले के रीतुडीह, बांसगोड़ा, लकड़ीगोला, बारी को ऑपरेटिव कॉलोनी का जुलूस शुक्रवार शाम 5 बजे मिलकर रेलवे फाटक के जुलूस के साथ मिलने जा रहा था. इसी दौरान कुछ लोगों ने सिवनडीह के कर्बला मैदान के पास इन्हें रोक दिया. इसके बाद ही वहां स्थिति बिगड़ गई. एक पक्ष जुलूस आगे ले जाने पर अड़ा था तो दूसरा इसे ले जाने से मना कर रहा था. इसी बीच किसी ने भीड़ पर पत्थर फेंक दिया और देखते ही देखते दोनों तरफ से पत्थरबाजी होने लगी और पूरे इलाके में तनाव फैल गया. हजारीबाग के पांडू चौक में ऊपर टंगे हुए रॉलेक्स से महावीरी झंडा सट गया था. रौलेक्स से झंडा सटते ही छत के ऊपर से पथराव शुरू हो गया, जिसके बाद विवाद बढ़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App