नई दिल्ली. गर्मी और लू की वजह से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में इस साल अब तक 111 लोगों की मौत हो चुकी है. दक्षिण भारत के इन दोनों राज्यों में पिछले साल दो हजार से ज्यादा लोगों की मौत लू की वजह से हुई थी.

वहीं दूसरी ओर आंध्र प्रदेश के पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में भी गर्मी का प्रकोप अपने चरम पर है. महाराष्ट्र के नासिक जिले में गर्मी की वजह से प्रसिद्ध रामकुंड सूख गया है. नासिक में कुंभ के दौरान श्रद्धालु प्रमुख रूप से इस कुंड में स्नान करते है. पिछले 130 साल में ऐसा पहली बार हुआ है, जब यह कुंड पूरी तरह से सूख गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक वहीं तेलंगाना में प्रदेश के डिजास्टर मैनेजमेंट डिपार्टमेंट का कहना है कि गर्मी की वजह से मरने वालों का आधिकारिक आंकड़ा 66 है, जबकि आंध्र प्रदेश में लू से 45 लोग मौत हो चुकी है.

गर्मी की वजह से सबसे ज्यादा 28 मौतें तेलंगाना के महबूब नगर में हुईं हैं, जबकि मेडक जिले में 11 लोग लू के शिकार हुए हैं.

नों प्रदेशों में बढ़ती गर्मी के बारे में मौसम विभाग ने जो जानकारी दी है, उसके मुताबिक, नलगोंडा, हनमकोंडा, खम्मम, महबूब नगर और रामागुंडम में गुरुवार को अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

सरकारी जानकारी के मुताबिक गर्मी और लू की वजह से कडप्पा जिले में 16 और प्रकाशम जिले में 11 लोगों की मौत हुई है.