नई दिल्ली. अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में चल रहे दिल्ली सरकार के पर्यटन और संस्कृति मंत्री कपिल मिश्रा का एक और ट्वीट सामने आया है. जिसे लेकर वो विवादों के घेरे में फसते नजर आ रहे हैं. कपिल मिश्रा ने यह ट्वीट बीजेपी-पीडीपी गठबंधन सरकार के खिलाफ किया है. साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी निशाना साधा है.
 
बता दें कि ठीक एक दिन पहले कपिल मिश्रा ने पठानकोट हमले पर पाकिस्तान को शामिल करने पर ट्वीट करके प्रधानमंत्री पर हमला किया था. जिसके बचाव में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद मैदान में कूद पड़े थे.
 
कपिल मिश्रा ने कश्मीर के एनआइटी में छात्रों पर लाठीचार्ज को लेकर मुफ्ती सरकार के साथ प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए ट्वीट करके कहा कि यह मोदी मंत्र है कि तिरंगा फहराओ, लाठी खाओ. इसके अलावा वो यहीं नहीं रुके. उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा कि देशभक्त हो तो पिटोगे, हिंदू देशभक्त हो तो जरुर पिटोगो. इसके अलावा उन्होंने अपने ट्वीट के अंत में यहां तक लिख दिया कि यह आईएसआई का असर है. 
 
एक दिन पहले भी ट्वीट पर मचा था बवाल
 
इससे पहले कपिल मिश्रा ने पठानकोट हमले की जांच के लिए पाकिस्तान की जेआईटी टीम को भारत आने की अनुमति देने के केंद्र सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए ट्वीट किया था कि ‘क्या पीएम के रूप में देश को एक आईएसआई एजेंट मिला है?. उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रधानमंत्री भारत विरोधी ताकतों के आगे घुटने टेक रहे हैं वह गंभीर चिंता का विषय है. कपिल मिश्रा के इन ट्विट्स पर बवाल मच गया था. लोगों ने मिश्रा की भाषा पर सख्त नाराजगी जताई.
 
मुख्यमंत्री बचाव में उतरे
 
जिसके बाद कपिल मिश्रा के ट्वीट पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बचाव करते हुए कहा था कि मोदी सरकार की विदेश नीति पूरी तरह फेल हो गई है. मोदी सरकार ने पठानकोट मामले में पाकिस्तान के सामने घुटने टेक दिए हैं.
 
क्या था पूरा मामला
 
बता दें कि पठानकोट हमले की जांच के लिए काफी दबाव के बाद पाकिस्तान ने संयुक्त जांच टीम भेजी थी. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तानी जेआईटी ने स्वदेश लौटने के बाद हमले को भारत का ड्रामा करार दिया और कहा कि यह भारत की पाकिस्तान को बदनाम करने की साजिश है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App