अहमदाबाद. गुजरात में शराब पर बैन लगा हुई है इसके बावजूद पंचमहल जिले के ढींकवा गांव में शराब ने 120 से अधिक महिलाओं को विधवा बना दिया है. 160 महिलाओं के नाम तो सरकारी दस्तावेज में दर्ज हैं. गांव में बेरोजगारी के कारण युवा शराब की लत में पड़ जाते हैं.  पीने के पानी के लिए यहां के लोगो को 3 किमी दूर जाना पड़ता है, लेकिन शराब के लिए गांव और आसपास के इलाकों में 50 गुमठियां हैं. शराब से मरने वाले पुरुषों की संख्या 120 से ज्यादा हो गई है. इंडिया न्यूज के खास शो एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में आज हम आपको बताएंगे इस गांव के बारे में.
 
शिक्षित युवा भी बेचने लगे शराब
गांव में रहने वाले भूपेंद्र परमार के अनुसार 120 नहीं, बल्कि शराब से मरने वाले पुरुषों की संख्या इससे ज्यादा है. इसके बावजूद अब भी पूरे गांव में बिना रोक-टोक शराब की गुमठियां चल रही हैं. गांव के युवा इस लत के शिकार हो रहे हैं. इतना ही नहीं, गांव के शिक्षित युवा भी अब शराब बेचने के काम में लग गए हैं.
 
सरकारी दस्तावेज में हैं 160 विधवाएं
सरकार ने हाल ही में जो आंकड़े जारी किए हैं, उससे साफ है कि ढीकवा गांव की 160 महिलाएं विधवा हैं. इसमें से 120 महिलाएं तो ऐसी हैं, जिनके पतियों की मौत अधिक शराब पीने के चलते हुई. इन सभी के लीवर-किडनी फेल हो गए थे. आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते समय पर सही इलाज नहीं मिल सका और काल के गाल में समा गए.
वीडियो देंखें

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App