नई दिल्ली. राज्यसभा में प्रधानमंत्री के अपील के बावजूद चुनाव लड़ने की योग्यता संबंधी संशोधन पास हो गया है. इसके साथ ही केंद्र सरकार को बड़ा झटका लगा है.
 
दरअसल विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चुनाव लड़ने को लेकर एक संशोधन प्रस्ताव पेश किया था जिसके लिए वोटिंग कराई गई. इस बीच वोटिंग में जहां केंद्र की तरफ से 61 वोट पड़े वहीं विपक्ष ने 94 वोट डाले.
 
मोदी की अपील के बावजूद पास 
इस बिल पर नरेंद्र मोदी ने अपील भी की थी लेकिन इसके बावजूद यह चुनाव लड़ने की योग्यता पर संशोधन राज्यसभा में पास हो गया है.
 
कांग्रेस ने किया था पहले भी विरोध
बता दें कि गुजरात और राजस्थान में पंचायत चुनाव लड़ने के लिए प्रत्याशियों की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की गई है जिसका कांग्रेस ने तीखा विरोध किया है. कांग्रेस ने इसकी निंदा करते हुए कहा थी कि यह लोकतंत्र के खिलाफ है.
 
राज्यसभा में भी इसके खिलाफ आवाज उठाई गई और कहा गया कि न्यूनतम योग्यता तय करके कैसे कमजोर वर्ग के लोगों पंचायत चुनाव से कैसे रोका जा सकता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App