नई दिल्ली. ईपीएफ पर टैक्स लगाने वाली मोदी सरकार ने अब अपना फ़ैसला वापस ले लिया है.विपक्ष के तरफ से लगातार हो रहे विरोध के बाद सरकार ने प्रस्ताव वापस ले लिया है. इस बात की जानकारी खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में दी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वित्त मंत्री से इस मामले में दोबारा विचार करने को कहा था. ऐसे में अरुण जेटली ने आज संसद में ये प्रस्ताव वापस लेने की घोषणा कर दी है. इससे पहले सोमवार को कांग्रेस ने सरकार के फ़ैसले के विरोध में जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया था.

बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 40% से ऊपर ईपीएफ़ निकालने पर टैक्स का ऐलान किया था. बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री ने कहा था कि पेंशन स्कीम में निवेश पर टैक्स नहीं लगेगा.

EPF टैक्‍स के खिलाफ एक लाख से ज्‍यादा लोगों ने ऑनलाइन याचिका पर हस्‍ताक्षर भी किए हैं. इस टैक्स को खत्म करवाने के लिए सोशल मीडिया पर #RollBackEPF हैशटैग भी कई दिन चला जिसमें सरकार से लोगों ने अपील की कि इसे वापस ले लिया जाए.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App