नई दिल्ली. कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पटलवार करते हुए कहा है कि पीएम मोदी का काम नतीजा देना है. कांग्रेस ने तीखा विरोध करते हुए कहा है कि संसद में ‘नौटंकी’ उनके समर्थकों के लिए ही अच्छा मनोरंजन हो सकती है.
 
वित मंत्री अरुण जेटली ने राहुल गांधी पर टिपण्णी करते हुए कहा था कि राहुल कितना जानते हैं…वह कब जानेंगे. इसी लहजे में कांग्रेस ने मोदी पर तंज करते हुए कहा है कि वह कितना सुनते हैं…वह कब सुनेंगे.
 
विपक्षी दलों ने आरोप लगाया कि मोदी ने किसानों, दलितों, छात्रों और यहां तक कि अपने ही मंत्रियों की आवाजों की अनदेखी की है. ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी (एआईसीसी) ने कहा कि यह वास्तविकता में आने का समय है.
 
पीएम बनने के बावजूद गंभीरता नहीं
 
कांग्रेस पार्टी ने कहा कि जब आदमी मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री बनता है तो लोग निश्चित तौर पर यह उम्मीद करते हैं कि व्यक्ति में एक निश्चित स्तर की गंभीरता होगी सुनने की कुछ मात्रा में मंशा होगी और अपनी आवाज के मोह से उपर उठ गए होंगे.