नई दिल्ली. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ आह्वान की प्रशंसा की.  राष्ट्रपति ने कहा कि आज प्रधानमंत्री यहां कोई सलाह देने या बोलने नहीं आए हैं लेकिन उनकी मौजूदगी यह स्पष्ट करती है कि वे जो कहते हैं, वह करते हैं. 
 
पीएम को किया धन्यवाद
लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की पहल पर आयोजित राज्य विधानसभाओं की महिला विधायकों और पाषर्दों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि वह प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हैं कि सत्ता में आने के बाद उन्होंने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढाओ’ का नारा दिया और इस दिशा में पहल की. 
 
पीएम ने कोई सलाह नहीं दी
उन्होंने कहा कि आज के कार्यक्रम में भी प्रधानमंत्री कोई सलाह नहीं देने जा रहे हैं, न उन्हें कुछ बोलना है लेकिन वे एक घंटा यहां मौजूद हैं. यह उनकी इस विषय पर प्रतिबद्धता को स्पष्ट करता है. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि यह स्पष्ट करता है कि वह जो कहते हैं, वह करते हैं.
 
जल्द पास हो महिला आरक्षण विधेयक
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शनिवार को कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह विधयेक अब तक संसद में पारित नहीं हो सका है और इसे पारित कराना सभी राजनीतिक दलों का दायित्व है क्योंकि इस विषय पर उनकी प्रतिबद्धता इसे अमलीजामा पहनाकर ही पूरी की जा सकती है. 
 
राज्यों की महिला विधायकों एवं विधान पार्षदों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि दो तिहाई बहुमत से एक सदन में (लोकसभा) पारित होने के बाद भी महिलाओं को संसद और राज्य विधानसभाओं एवं परिषदों में 33 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाला विधेयक दूसरे सदन (राज्यसभा) में पारित नहीं हो सका है.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App