नई दिल्ली. जेएनयू के छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार गुरुवार शाम तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद जेएनयू परिसर पहुंच गए हैं. छात्रों ने बताया कि कन्हैया जेएनयू परिसर में आने-जाने के लिए विभिन्न छोरों पर लगे दरवाजों में से एक से घुसे. इसका कारण था कि मुख्य प्रवेश द्वार पर उनका विरोध करने के लिए कार्यकर्ता जमा थे. वे उनसे परहेज करना चाहते थे. 
 
दिल्ली हाईकोर्ट ने एक दिन पहले ही कन्हैया को छह माह की अंतरिम जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया था. इस आदेश के एक दिन बाद उन्हें गुरुवार की शाम जेल से रिहा किया गया.
 
क्या है मामला?
बता दें कि पुलिस ने देशद्रोह के आरोप में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया को गिरफ्तार किया है. पुलिस को इस मामले में 7 से 8 लोगों की तलाश है. मंगलवार को जेएनयू परिसर में छात्रों के एक समूह ने एक समारोह आयोजित किया था और संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु को साल 2013 में फांसी दिए जाने के मुद्दे पर सरकार और देश के खिलाफ नारे लगाए थे.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App