नई दिल्ली. रोहित वेमुला पर संसद में दिए बयान के बाद मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी घिर गई हैं. संसद में गलत बयानी को लेकर एकजुट विपक्ष ने विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है.

कांग्रेस ने सोमवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया, साथ ही लोकसभा में थोड़ी देर तक हंगामा किया.यह घटना तब घटी, जब वित्तमंत्री अरुण जेटली आम बजट पेश करने के लिए खड़े हुए थे.

सदन की बैठक जैसे ही शुरू हुई लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने जेटली को बजट पेश करने को कहा. तभी कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल खड़े हो गए और उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से यह बताने को कहा कि एचआरडी मंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव का क्या हुआ? वेणुगोपाल ने कहा, आम बजट के दिन ऐसा करना मेरे लिए दुखद है. मैं एचआरडी मंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाया हूं.

इसके बाद लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और पार्टी के अन्य सदस्य भी खड़े हो गए और उन्होंने उस नोटिस पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की. इस पर संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने आपत्ति जताते हुए कहा, बहुत ही घटिया राजनीति… कुछ भी रिकॉर्ड में नहीं जाना चाहिए.

शोरगुल के बीच महाजन ने उत्तेजित सदस्यों से कहा कि हंगामा नहीं करें और मंत्री को बजट पेश करने दें. महाजन ने कहा, मुझे 26 और 29 फरवरी को स्मृति ईरानी के खिलाफ नोटिस मिला है. वह मामला मेरे पास विचारार्थ है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App