चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि मुरथल में जाट आंदोलन के वक्त महिलाओं के साथ हुई अभद्रता और हिंसा में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होनें लोगों से अपील की है कि वे मुरथल में हुए ‘कथित गैंगरेप’ से जुड़ी जानकारी पुलिस से साझा करें.  
 
रविवार को खट्टर ने कहा है कि आंदोलन के वक्त कुछ ‘उपद्रवी तत्वों’ ने कानून अपने हाथ में लेकर लूटपाट और आगजनी की घटना को अंजाम दिया और राज्य में शांति व्यवस्था को भंग किया है. उन्होंने क्षतिग्रस्त संपत्ति की भरपाई को लेकर कहा कि घटना के दौरान संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई राज्य सरकार करेगी.
 
खट्टर ने कहा, ‘हिंसक घटना में शामिल प्रत्येक व्यक्ति की पहचान करके उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी’. उन्होंने कहा कि ऑडियो, वीडियो फुटेज के जरिए हिंसक घटना में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है. अगर किसी के पास इस घटना से संबंधित कोई जानकारी है तो उसे बिना डरे सामने आकर सूचना को साझा करना चाहिए.
 
मुख्यमंत्री ने मुरथल में हुए कथित गैंगरेप के संबंध में कहा कि राज्य सरकार इस मामले की कड़ी जांच पड़ताल कर रही है. उन्होंने कहा, ‘मामले की जांच के लिए तीन महिला पुलिस अधिकारियों की विशेष जांच समिति बनाई गई है. जो घटना स्थल का जायज़ा लेने भी गई थी. इस घटना की जांच के लिए सभी सूचनाओं का मिलना आवश्यक है. कोई भी व्यक्ति इस घटना से संबंधित जानकारी चिट्ठी, टेलीफोन या ऑनलाइन माध्यम से पुलिस को दे सकता है’. 
 
उन्होंने कहा कि अगर रेप जैसी दुखद घटना हुई है तो अपराधियों को दंडित किया जाएगा. इसके साथ ही खट्टर ने हरियाणा के लोगों से क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है.
 
बता दें कि हरियाणा में हाल ही में हुए जाट आंदोलन के वक्त सोनीपत जिला के मुरथल क्षेत्र में गैंगरेप की घटना सामने आई थी जिसके बाद एक विशेष जांच दल का गठन हुआ था. इसके द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया था. जिसमें लोग घटना से जुड़ी सूचना सीधे पुलिस को दे सकते हैं.
      

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App