कोलकाता. दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी परिसर में लगे देश विरोधी नारों की आग अब कोलकाता तक जा पहुंची है. कोलकाता के जादवपुर यूनिवर्सिटी में भी अफजल गुरु के समर्थन में नारे लगाए जाने का मामला सामने आया है. यहां छात्रों ने विरोध मार्च के दौरान देशविरोधी नारे लगाए और इसका एक विडियो भी सामने आया है. इसके बाद गृहमंत्रालय ने पश्चिम बंगाल की सरकार से पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी है.
 
जेएनयू के गिरफ्तार छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया के समर्थन में जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्रों ने एक मार्च निकाला. इस मार्च में प्रदर्शनकारियों ने आतंकी अफजल गुरु के समर्थन में जमकर नारेबाजी की. ये लोग ‘अफजल बोले…आज़ादी, गिलानी बोले…आज़ादी’ के नारे लगा रहे थे. इसके अलावा रैली के दौरान, ‘फ्रीडम फ्रॉम आरएसएस, फ्रीडम फ्रॉम मोदी गवर्नमेंट’, ‘जब कश्मीर ने मांगी आजादी, मणिपुर भी बोले आजादी’.के  नारे भी लगाए गए.
 
पोस्टर लेकर विरोध मार्च कर रहे इन लोगों ने जेएनयू के छात्रों के खिलाफ हुई कार्रवाई को भी गलत बताया. इन लोगों ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग भी की है. वहीं सीपीआईएम के नेता शमिक लहीरी ने इस घटना की निंदा की लेकिन लहीरी ने साथ ही ये भी कहा की जादवपुर यूनिवर्सिटी को किसी ग्रुप प्रोटेस्ट से नहीं जोड़ा जा सकता.
बता दें कि इस पहले जवाहर लाल यूनिवर्सिटी यानी जेएनयू में भी 9 फरवरी को आतंकी अफजल गुरु की बरसी के मौके पर कैंपस में देश विरोधी नारे लगाए थे जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया था.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App