चंडीगढ़. हरियाणा के जाट समुदाय ने हरियाणा सरकार द्वारा सशर्त आश्वासन मिलने के बाद रविवार को अन्य पिछड़ी जाति (ओबीसी) के दर्जे की मांग को लेकर अपना आंदोलन समाप्त करने की घोषणा कर दी. 
 
‘अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति’ के अध्यक्ष हवा सिंह सांगवान ने बताया, “कृषि मंत्री ओ.पी. धनखड़ ने हमें आश्वासन दिया है कि अगर केंद्र सरकार अन्य राज्यों में जाटों को ओबीसी दर्जे का लाभ देती है तो हरियाणा के जाट समुदाय को भी यह मिलेगा.”
 
उन्होंने कहा कि समिति के सदस्यों ने हिसार जिले के हांसी शहर में कृषि मंत्री से मुलाकात की थी और आश्वासन मिलने के बाद आंदोलन समाप्त करने का फैसला किया.
 
जाट समुदाय के लोग आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार से हिसार जिले में मय्यड़ गांव में रेल पटरी पर बैठे थे. सांगवान ने कहा कि नौ अन्य राज्यों में बड़ी संख्या में जाट हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App