मुंबई. 26/11 हमलों के केस में पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकी डेविड कोलमैन हेडली की गवाही का आज तीसरा दिन था. इस गवाही को तकनीकी खराबी की वजह से आज रद्द करने का फैसला किया गया है. अब गवाही कल होगी. 

कोर्ट में बोला हेडली, ISI और लश्कर-ए-तैयबा में काफी तालमेल

हेडली से जिरह कर रहे विशेष सरकारी अभियोजक ने बताया कि गवाही में उसकी ओर से तकनीकी गड़बड़ी के कारण अस्थायी रूप से विलंब हो गया था.

हेडली से 26/11 मामले में सरकारी गवाह के रूप में जिरह की जा रही है. हेडली ने एक गुप्त स्थान से गवाही देते हुए विशेष न्यायाधीश जीए सनप को बताया था कि आईएसआई विभिन्न आतंकवादी संगठनों को वित्तीय, सैन्य और नैतिक सहयोग देकर उनकी मदद कर रहा है.

पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकी डेविड कोलमैन हेडली ने कल भारतीय रक्षा वैज्ञानिकों और मशहूर सिद्धिविनायक मंदिर को निशाना बनाने की विफल योजना का खुलासा करते हुए कहा था कि आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन को आईएसआई की ओर से ‘आर्थिक’ और ‘सैन्य’ सहयोग दिया जाता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App