वाशिंगटन. ट्विटर ने ‘आतंकवादी कृत्यों को प्रोत्साहित करने या दहशत फैलाने वाले’ 1,25,000 से ज्यादा अकाउंटों को बंद कर दिया है, जिनमें से अधिकतर अकाउंट इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह से जुड़े थे.माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर भारत में सक्रिय आतंकवादी संगठनों और व्यक्तियों के अकाउंटों को नहीं छेड़ा गया है.

अमेरिकी फर्म ने एक ब्लॉग में कहा कि आतंकवादी खतरे की प्रकृति बदल गई है और इसीलिए इस क्षेत्र में हमारे जारी काम में भी बदलाव आया है. हम आतंकवादियों के कृत्यों को प्रोत्साहित करने या लोगों को डराने वाले 1,25,000 से अधिक खातों को साल 2015 के मध्य से अब तक बंद कर चुके हैं जो मुख्य रूप से आईएसआईएस से जुड़े हैं.

हालांकि ट्विटर ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान से काम कर रहे आतंकवादी संगठनों के अकाउंटों से जुड़े प्रश्नों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. उल्लेखनीय है कि मुंबई में हुए आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज मोहम्मद सईद ने तीन फरवरी को अपने ताजा ट्वीट में भारत के खिलाफ हमले करने का खुले तौर पर आह्वान किया है.

ट्विटर ने आतंकवाद को बढावा देने के लिए उसके मंच का प्रयोग किए जाने की निंदा की और कहा कि ‘ट्विटर के नियम’ यह स्पष्ट करते हैं कि ट्विटर पर इस प्रकार का व्यवहार करने या कोई हिंसक धमकी देने की अनुमति नहीं है. कंपनी ने कहा कि उसने और तेजी से प्रतिक्रिया करने के लिए अपनी रिपोर्ट समीक्षा दलों को बढ़ा दी है.

अतिवादी पोस्ट के खिलाफ अपनी कार्रवाई तेज करने के लिए ट्विटर ने पीपल अगेंस्ट वायलेंट एक्सट्रीमिज्म (पीएवीई) और द इंस्टीट्यूट फॉर स्ट्रैटेजिक डायलॉग जैसे प्रतिष्ठित संगठनों के साथ साझीदारी की है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App