मोरान. असम दौरे पर गए पीएम नरेंद्र मोदी ने डिब्रूगढ़ में एक जनसभा करके चुनावी शंखनाद किया. मोदी ने कांग्रेस पर संसद न चलने के लिए गांधी परिवार जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव हार गई थी इसलिए संसद नहीं चलने दे रही. इस देश में एक परिवार है जो हमें निर्णय लेने से रोकता रहता है.
 
गैस क्रैकर परियोजना का किया उद्घाटन 
इससे पहले नॉर्थ-ईस्‍ट के दौरे पर गए पीएम मोदी ने असम के नुमालीगढ़ रिफायनरी में मोम संयंत्र को देश को समर्पित किया। मोदी असम में 10,000 करोड़ रूपए की गैस क्रैकर परियोजना का भी उद्घाटन किया. इस दौरान यहां आयोजित सभा को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि विकास के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. राजनीति की वजह से परियोजनाओं की लागत बढ़ती है जिसका खामियाजा देश को उठाना पड़ता है.
 
मनमोहन सरकार पर साधा निशाना
इस मौके पर पीएम ने बिना नाम लिए मनमोहन सिंह सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं का उद्घाटन मेरे हाथों नहीं होना चाहिए था क्‍योंकि यह काफी पुराना प्रोजेक्‍ट है और बहुत पहले ही देश को समर्पित कर दिया जाना चाहिए था. 
 
‘केंद्र सरकार की प्राथमिकता पूर्वोत्तर राज्य हैं’
पीएम ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों के विकास के बिना भारत तरक्की नहीं कर सकता है. केंद्र सरकार की प्राथमिकता में पूर्वोत्तर के सभी राज्य हैं. इन राज्यों में मौजूद संसाधनों के पूरे इस्तेमाल पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है. केंद्र सरकार सहकारी संघवाद में विश्वास करती है. भारत की प्रगति के लिए केंद्र और राज्यों को एक साथ आने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि विकास केवल बड़े शहरों तक सीमित नहीं होना चाहिए बल्कि छोटे छोटे शहरों और कस्बों पर ध्यान देने की आवश्यकता है. छोटे शहरों में रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए प्रयास करने होंगे.
 
इशारों-इशारों में किया अपने सीएम उम्मीदवार के नाम का जिक्र 
प्रधानमंत्री ने कहा, इन दोनों परियोजना के शुरुआत से पूरे हिंदुस्तान में ‘आनंद’ हैं और असम में ‘सर्वानंद’ हैं.” फिर उन्होंने कहा कि इन दोनों परियोजना को अगर 25 साल पहले पूरा कर लिया जाता तो पूरे असम में सर्वानंद का माहौल होता. जानकार मानते हैं कि पीएम ने इन शब्दों का चयन निश्चित रूप से आगामी विधानसभा के चुनाव के मद्देनजर किया गया था. इस मौके पर मंच पर सर्वानंद सोनोवाल भी मौजूद थे.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App