तिरुवनंतपुरम. सौर घोटाले मामले में केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी ने कहा है कि इस मामले में उन पर लगे आरोपों में रत्ती भर भी सच्चाई नहीं है. मामले को लेकर विपक्षी वाम मोर्चे के इस्तीफे की मांग का सामना कर रहे चांडी ने कैबिनेट की साप्ताहिक बैठक के बाद कहा, ‘घोटाले में मेरे ऊपर लगाए गए आरोपों में से एक फीसदी भी सही साबित हो जाए तो मैं पांच दशक पुराना अपना सार्वजनिक जीवन त्याग दूंगा.’
 
उन्होंने कहा, ‘मैं खुद का बचाव कर सकता हूं क्योंकि मैंने कुछ गलत नहीं किया है. मेरी अंतरात्मा साफ है.’
 
बता दें कि सौर पैनल घोटाले की मुख्य आरोपियों में से एक सरिता नायर ने कहा है कि पैनल के कारोबार के लिए उसने चांडी समेत कांग्रेस के कुछ नेताओं को घूस दी थी. इसके बाद से कांग्रेस नेता विपक्ष के निशाने पर हैं.
 
चांडी ने कहा, ‘विपक्षी वाम मोर्चा घबराया हुआ है क्योंकि उसे पता है कि केरल के लोग इन आधारहीन बातों में विश्वास करने वाले नहीं हैं. इसीलिए वे तमाम तरह के प्रदर्शनों में लगे हुए हैं. अगर उन्हें अपने आरोपों पर ऐतबार है तो वह कुछ महीना ठहरकर विधानसभा चुनाव का इंतजार क्यों नहीं कर लेते? वे डरे हुए हैं.’
 
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘इस घोटाले की वजह से सरकारी खजाने को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. घोटाला करने वालों को कोई आर्थिक लाभ नहीं मिला है और सरकार की तरफ से इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने में कोई कोताही नहीं बरती गई है.’

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App