पटना. महागठबंधन सरकार के विधायकों के महा पराक्रम की क्या बात की जाए एक से एक कारनामें और घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं और ताजा घटना अपहरण विवाद में अब नए खुलासे हो रहे हैं. 
 
विक्रम विधायक के ऊपर काजल (बदला हुआ नाम) अपहरण मामले में नया मोड़ तब आया जब काजल पहुंची एसएसपी मनुमहाराज के आवास पर और कहा इस पुरे विवाद को विधायक से कोई लेना देना नहीं. लड़की का कहना है कि पिता उसकी शादी जबरदस्ती करवाना चाहते थे लेकिन वह पंकज से प्यार करती थी. वाराणसी में जा कर की पंकज शर्मा से शादी. साथ में शादी का प्रमाण पत्र भी दिखाया.
 
अब मामला सामने आ रहा है कि अपहृत काजल से पंकज शर्मा नाम के लड़के ने शादी रचाई. जानकारी के अनुसार विधायक सिद्धार्थ के साथ दो पंकज शर्मा रहते हैं एक गोपालपुर का है तो दूसरा सोहरा में रहता है. सोहरा का रहने वाला पंकज शर्मा शादीशुदा है. लड़की ने सोहरा वाले पंकज से शादी की बात कुबली है.
 
अहम बात यह है कि आखिर विधायक पर बाई नेम्ड एफआईआर करने वाले लड़की के शिक्षक पिता पर अचानक घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए स्वयंसेवी संस्था अनुराग फाउंडेशन ने कोर्ट में मामला दर्ज़ कराया है.
 
कौन है पंकज शर्मा
 
बिक्रम से कांग्रेसी विधायक सिद्धार्थ कुमार सिंह के साथ घर से भागी काजल ने उनके ड्राइवर से शादी कर ली है. शुक्रवार को वह शादी संबंधी पेपर लिए पति पंकज कुमार के साथ एसएसपी मनु महाराज के आवास पर पहुंची. काजल ने बताया कि वह दो साल से पंकज से प्यार कर रही थी. लेकिन घर वाले शादी कराने को तैयार नहीं थे इसलिए उसे यह कदम उठाना पड़ा. 
 
दोनों के एसएसपी आवास पहुचने के चंद घण्टो के अंदर शुक्रवार को विधायक सिद्धार्थ सिंह भी सचिवालय थाना पहुंचे. उन्होंने कहा कि शादी के बाद पंकज ने मुझे फोन किया था. मेरे समझाने पर ही दोनों ने सरेंडर किया है. अगर दोनों ने सरेंडर नहीं करते तो मेरा बैंड बज जाता. प्यार करना कोई गुनाह नहीं है.
 
पिता पर लगाया जान से मारने का आरोप
 
सचिवालय थाना में काजल ने एक आवेदन भी दिया है. इसमें लिखा है कि उसे पिता अभय शर्मा और भाई राहुल कुमार जान से मारने की धमकी देते हैं. वे लोग जबरन मेरी शादी बड़े उम्र के लड़के के साथ करना चाहते हैं. मेरा पालन पोषण नानी ने किया है. घरवाले नानी के जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं. पापा मांगने पर भी मुझे कुछ नहीं देते हैं. हो सकता है कि वह मुझे जहर भी दे दें.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App