नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में म्यूनिशीपल कॉर्पोरेशन ऑफ दिल्ली (एमसी़डी) के कर्मचारी वेतन न मिलने के चलते हड़ताल पर चले गए हैं. जिसकी वजह से कूड़ा घरों में कूड़ा-कचरा भरा हुआ है. कर्मीयों ने केजरीवाल के घर के बाहर और जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया था लेकिन मामला तब बिगड़ गया जब उन्होंने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर के बाहर कूड़ा फैला दिया.
 
सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना कड़ा रुख दिखाया और कहा कि कूड़े पर राजनीति की जा रही है. साथ ही इस कूडे़ के लिए बीजेपी और केंद्र सरकार जिम्मेदार है.
 
सिसोदिया का कहना है कि दिल्ली सरकार पर एमसीडी का कोई बकाया नहीं है और दिल्ली सरकार 12 महीने का वेतन दे चुकी है. उन्होंने पूछा की ये 12 महीने का पैसा कहां गया, आखिर निगम कर्मचारियों को वेतन क्यों नहीं दिया जा रहा है.
 
मजदूर विकास समयुक्ता मोर्चा के अध्यक्ष संजय गहलोत ने बताया, ‘कर्मचारियों को दो-तीन महीनों से उनका वेतन नहीं मिला है. बार-बार आग्रह करने के बावजूद हमारी मांगें नहीं सुनी गयी.’ उन्होंने कहा, ‘ऐसे में, हम लोग यहां पर प्रदर्शन कर रहे हैं. अगर हमारी मांग नहीं मानी जाती है तो हम अनिश्चितकाल के लिए अपना काम बंद रखेंगे.’

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App