नई दिल्ली. देश भर से पकड़े गए आतंकी संगठन IS के 14 आतंकियों से पूछताछ से खुलासा हुआ है कि देश में इनके संपर्क में 50 से ज्यादा लोग मौजूद हैं. इनमें 15 महाराष्ट्र, 7 तेलंगाना, 12 हैदराबाद, 8 कर्नाटक और 8 उत्तर प्रदेश से हैं. 
 
सूत्रों के मुताबिक पकड़े गए आतंकी मुश्ताक ने पूछताछ में माना है कि वो सफी अरमार से लगातार संपर्क में था और उसके निर्देश पर ही काम कर रहा था.  मुश्ताक ने बताया कि अरमार ने उसे IS में लोगों की भर्ती कराने का काम दिया था.
 
25 हजार की पगार पर IS में हो रही थी भर्ती
मुश्ताक ने युवकों को 20 से 25 हजार के पगार पर IS से जोड़ने की बात कबूल की है. मुश्ताक ने पूछताछ में बताया है कि IS ने भारतीय युवाओं को फांसने के लिए देश में चार जोन बनाए हैं. हर जोन का अलग इंचार्ज हैं.  
 
IS ने साल 2016 में करीब 500 भारतीय जवानों को भर्ती करने का टारगेट रखा है. इस भर्ती में जो जोन सबसे अच्छा करेगा उस जोन को ज्यादा पैसे और बाकी चीजें दी जाएंगी. 
 
तकनीकी रूप से स्मार्ट यूथ पर फोकस
मुश्ताक ने पूछताछ में बताया कि IS ने भारत में पढ़े-लिखे और तकनीकी रूप से स्मार्ट लड़कों पर ज्यादा फोकस करने को कहा था. IS हैंडलर सफी अरमार युवकों को इराक और सीरिया भेजकर IS की सेना में शामिल कराने का काम देखता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App