दिल्ली. दिल्ली में 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए बनाई गई स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम की फाइलें गुम हो गई है. इस टीम का गठन खुद केजरीवाल सरकार ने ही किया था.

गृह विभाग ने सर्कुलर जारी किया

दिल्ली सरकार के गृह विभाग ने इस बारे में एक सर्कुलर भी जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि 1984 के दंगों को लेकर SIT गठन वाली फाइल 16 मार्च, 2015 को तत्कालीन गृह मंत्री (जीतेंद्र तोमर) को भेजी गई थी, उसके बाद से नहीं मिल रही हैं, इसलिए सभी विभागों से निवेदन है कि अगर आपके यहां मिले, तो गृह विभाग को भेज दें.

सिसोदिया को मामले की जानकारी नहीं

इस बारे में जब दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इसके बारे में अभी जानकारी नहीं है बाद में बताऊंगा. लेकिन सरकार के सूत्र बता रहे हैं कि फाइल गुमने से केस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

केंद्र SIT से करा रही है जांच

दरअसल केजरीवाल सरकार ने अपनी पिछली सरकार में जो SIT बनाई थी, वो काम शुरू ही नहीं कर पाई और इस बीच केंद्र ने SIT बना दी, जो 84 के सिख विरोधी दंगों की जांच कर रही है. इसलिए इस सरकार की SIT संबंधित फाइल गुम होने से केस पर फर्क नहीं पड़ेगा.

बीजेपी ने साधा निशाना

इस मामले पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि दिल्ली सचिवालय से 84 सिख दंगों की फाइल पिछल 10 महीने से गायब है, लेकिन सरकार को कोई खबर नहीं.  दिल्ली सरकार के कामकाज के तरीके को बताने के लिए यह घटना काफी है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App