नई दिल्ली. काठमांडू में आए भूकंप के बाद दिल्ली सरकार ने मंगलवार को ऐलान किया है कि प्राकृतिक आपदाओं के वक्त सभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में पीड़ितों का मुफ्त इलाज किया जाएगा. इसके बाबत एक पत्र सभी अस्पतालों को भेज दिया गया है. मंगलवार देर शाम दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी जिलों के डीसी और अधिकारियों के साथ बैठक की. इसके बाद फैसला किया गया कि दिल्ली सरकार अस्पतालों को पूरी तरह से भकंपरोधी बनाने के लिए रेट्रोफीटिंग का सहारा लेगी.

इसके लिए पूरी दिल्ली के 200 स्ट्रक्चरल इंजीनियर की मदद लेने पर विचार हो रहा है. यही नहीं सभी सरकारी अस्पतालों को ये भी निर्देश दिए गए हैं कि इमरजेंसी में चार दिन का पानी एकत्र करके रखा जाए. साथ ही सभी जिलों में करीब 33 क्यूआरटी यानी क्विक रेस्पांस टीम भी बनाई जाएगी ताकि ऐसी आपदाओं से जल्दी निपटा जा सके. इसके अलावा छत्रसाल स्टेडियम में काडमांडू के भूकंप पीड़ितों को मदद के लिए कलेक्शन सेंटर भी बनाया गया है. जहां कोई भी जाकर राहत सामग्री दे सकता है. दिल्ली सरकार ने घोषणा की है कि चार लाख टेंट और 50 टन ड्राई फूड भिजवाया जाएगा. इसके लिए डिजास्टर मैनेजमेंट हेल्पलाइन 1077 को भी खोला गया है. जहां फोन करके दान देने वाले ज्यादा जानकारी ले सकते हैं.

IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App