नई दिल्‍ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर रविवार को स्‍याही फेंकने वाली आरोपी महिला भावना अरोड़ा को रोहिणी कोर्ट ने एक दिन के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. भावना ने केजरीवाल सरकार पर सीएनजी घोटाले के आरोप लगाए हैं. पुलिस ने महिला पर आईपीसी की धारा 186, 353 और 355 के तहत केस दर्ज किया थे. रविवार की रात कोर्ट ने उन्हें पर्सनल बेल बॉन्ड पर छोड़ दिया था और सुबह पेश होने को कहा था.  
 
भावना का बयान
भावना अरोड़ा ने कहा, ऑड ईवन के पीछे बहुत बड़ा सीएनजी घोटाला था. मैं इस सिलसिले में आप नेताओं से मिलने गई, लेकिन उन्होंने मिलने से इनकार कर दिया. भावना का कहना है कि सीएनजी टेस्टिंग में बहुत बड़ा घोटाला हुआ है. 
 
भावना का स्टिंग क्या?
भावना ने बातचीत में कहा कि दो सीएनजी स्टेशनों ने बाइक के नंबर पर सीएनजी सिलेंडर का फिटनेस सर्टिफिकेट दे दिया. एक घंटे की जांच आठ मिनट में कर दी. ये धांधली है. उन्होंने आप के वॉलंटीयर्स पर बदतमीजी करने का आरोप भी लगाया. 
 
क्या है पूरा मामला
बता दें कि दिल्ली सरकार की ओर से अपनी ऑड-ईवन  योजना की सफलता को लेकर आयोजित धन्यवाद रैली में एक महिला ने केजरीवाल पर स्याही फेंक दी थी, जिस पर आप ने तुरंत प्रतिक्रिया जताते हुए इस घटना को बीजेपी की साजिश करार दिया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महिला की शिनाख्त भावना अरोड़ा के तौर पर हुई है और उसने दावा किया है कि वह आम आदमी सेना की पंजाब इकाई की प्रभारी है. घटना के बाद पुलिस उसे तुरंत स्थल से ले गई.  
 
केजरीवाल पर स्याही फेंकने वाली भावना को पुलिस ने गिरफ्तार कर धारा 186, 353 और 355 के तहत मामला दर्ज कर लिया था. इसके बाद कोर्ट ने रात में उन्हें पर्सनल बेल बॉन्ड पर छोड़ दिया और सुबह पेश होने के लिए कहा था.  

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App