लखनऊ. पैसों की कमी की वजह से 20 साल के इंडियन स्क्वैश प्लेयर रवि दीक्षित ने अपनी किडनी 8 लाख में बेचने का फैसला लिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक अगले महीने होने वाले साउथ एशियन गेम्स में रवि दीक्षित को कोई स्पॉन्सर नहीं मिल रहा है जिसकी वजह से उसने यह कदम उठाने का फैसला लिया है.
 
2010 में एशियन जूनियर चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीत चुके रवि ने कहा कि मैं पिछले दस साल से स्क्वैश खेल रहा हूं लेकिन गुवाहाटी में होने वाले एशियन गेम्स में हिस्सा लेने के लिए मेरे पास पैसे नहीं है. रवि ने कहा कि वो अपनी किडनी बेचना चाहते हैं जिसे कोई 8 लाख रुपए देकर ले सकता है.
 
रवि ने सोशल मीडिया पर किडनी बेचने का ऑफर डालते हुए लिखा है कि मैं चेन्नई में तैयारी कर रहा हूं लेकिन पैसे जमा न होने की वजह से मेरा मनोबल टूट रहा है. ऐसे में ये कदम उठाना मेरी मजबूरी है.
 
इस बात को लेकर रवि के माता पिता चिंतित है और वे अपने बेटे को फोन करके ऐसा कदम न उठाने के लिए समझा रहे है. रवि के पिता धामपुर चीनी मिल में काम करते हैं. रवि को अब तक धामपुर चीनी मिल से काफी मदद मिली है लेकिन उन्हें लगता है कि ऐसा बहुत दिन कैसे चलेगा.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक रवि की समस्या को उत्तर प्रदेश के मंत्री मूलचंद चौहान ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने रखने और मदद कराने का भरोसा दिलाया है. वहीं धामपुर के पूर्व बीजेपी विधायक अशोक राणा ने रवि की समस्या को राज्य सरकार द्वारा खिलाड़ियों की अनदेखी का नतीजा बताया है.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App