नई दिल्ली. महिंद्रा, टोयोटा और मर्सेडीज ने 2000 सीसी के डीजल कारों को बैन करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले में बदलाव के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

महिंद्रा, टोयोटा और मर्सेडीज की तरफ से दी गई अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा. बताया जा रहा है कि इन कार कंपनियों ने दिल्ली में SUV कारों को बैन करने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले में बदलाव करने की मांग की है.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने दिसंबर में अपने एक ऐतिहासिक फैसले में राजधानी दिल्‍ली में नई डीजल कारों के रजिस्‍ट्रेशन पर शर्तों के साथ रोक लगा दी है. इसके तहत दिल्‍ली-NCR में अगले तीन महीने तक 2000 सीसी और उससे ज्यादा क्षमता वाली गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से डीजल वाहन बनाने वाली ऑटो मोबाइल कंपनियों को बड़ा झटका लगा है. दरअसल ज्यादातर SUV   कारें 2000 सीसी या उससे ज्यादा की होती है. एनसीआर की बात की जाए तो पूरे देश के लगभग 12 फीसदी वाहन यहीं बिकते हैं, उसमें डीजल कारों का प्रतिशत करीब 25.30 फीसदी है.

 

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App