नई दिल्ली. पंजाब के पठानकाट स्थित एयरबेस पर हुए हमला के पीछे आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है. गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, जिस तरीक़े से हमला हुआ, उससे लगता है कि जैश ने ही इसे अंजाम दिया है.

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के बहावलपुर से करीब चार से पांच आतंकवादी 31 दिसंबर की रात को सरहद पार से भारत में दाख़िल हुए थे. इन्होंने पहले एक एसपी रैंक के अफ़सर की गाड़ी हाइजैक की. मामला जब रिपोर्ट हुआ तब पूरे इलाक़े में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया और गुरदासपुर और जम्मू में तलाशी अभियान शुरू किए गए. उसी दौरान एक गाड़ी में एक सर कटा शव मिला था.

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि ख़ुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार इस ऑपरेशन को देख रहे थे. पीछले 24 घंटों में ये साफ़ हो गया था कि आतंकी हमला होने वाला है, इसीलिए गुरदासपुर और पठानकोट में अलर्ट था और जम्मू कश्मीर पुलिस और पंजाब पुलिस भी अलर्ट थी.

सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी चूक

उधर गृह मंत्रालय इस हमले को सुरक्षा व्यवस्था में एक बहुत बड़ी चूक मान रहा है. अभी नए साल के मौके पर आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर अलर्ट भी जारी किया गया था, लेकिन इसके बावजूद सीमा पार से घुसपैठ हुई और हमला हुआ.

गृह मंत्रालय की मानें तो आतंकवादियों का मक़सद एयरफोर्स बेस को ज़्यादा से ज़्यादा नुक़सान पहुंचाना था, हालांकि वे इसमें कामयाब नहीं हो सके और वायुसेना के सारे विमान सुरक्षित है.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App