मुंबई: कॉरर्पेरेट बेकिंग के इतिहास में देश का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला हुआ है जिसके बाद PNB (पंजाब नेशनल बैंक) ने दूसरे बैंकों को तौर-तरीके को लेकर आगाह किया है. प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर बैंकों को पीएनबी द्वारा भेजे गए पत्र में इस बात का जिक्र किया गया है कि शुरुआती जांच में इस बात का पता चला है कि मुंबई में हमारी शाखाओं के कर्मचारियों के साथ सांठगांठ कर इन घोटाले के पीछे के साजिश रचने वालों ने 11,360 करोड़ रुपए के घोटाले को अंजाम दिया है.

पीएनबी के इस लैटर को SWIFT जोकि एक मैसेजिंग नेटवर्क है के जरिए पाया गया है. इस लेटर में कहा गया है कि एक जूनियर लेवल अधिकारी ने गलत तरीके से एलओयू आरोपी नीरव मोदी से संबंधित कंपनियों के नाम पर जारी किए. 11360 करोड़ रुपए के घोटाले की PNB ने सीबीआई से दो शिकायते कीं, एक अरबपति हीरा व्यवसायी नीरव मोदी और दूसरी आभूषण बनाने वाली एक कंपनी के खिलाफ. सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया है.

PNB घोटाले का किस बैंक पर पड़ेगा असर

बता दें कि 11,360 करोड़ रुपए के घोटाले का असर दो सरकारी बैंक और एक प्राइवेट बैंक पर पड़ेगा, इनमें यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और ऐक्सिस बैंक शामिल हैं. इसके पीछे का कारण ये है कि इन बैंकों ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और ऐक्सिस बैंक ने पीएनबी द्वारा जारी किए गए लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के आधार पर क्रेडिट की पेशकश की थी.

क्या है SWIFT और LoUs

आप सोच रहे होंगे कि SWIFT क्या है, बता दें कि ये एक मैसेजिंग नेटवर्क है, जिसके जरिए वित्तीय संस्थान दो देशों के बीच फंड भेजने के लिए जानकारी सुरक्ष‍ित तरीके से शेयर करते हैं. एलओयू एक पत्र है जिसके आधार पर एक बैंक अन्य बैंक को एक तरह से गारंटी पत्र उपलब्ध कराया जाता है जिसके आधार पर विदेशी शाखाएं ऋण की पेशकश करती हैं.

कैसे हुआ घोटाले का खुलासा

पीएनबी के पास जब लेटर ऑफ अंडरटेकिंग भुगतान के लिए आए तो बैंक ने इनका भुगतान करने में असमर्थता जताई, जिसके बाद इस पूरे मामले का खुलासा हुआ. घोटाला सामने आने के बाद पीएनबी ने अपने 10 अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. पीएनबी घोटाले के बाद एक्सपर्ट्स का कहना है कि पीएनबी में नकली लेनदेन अन्य उधारदाताओं की पुस्तकों को भी प्रतिकूल रूप से प्रभावित करेगा. पीएनबी धोखाधड़ी का प्रभाव काउंटर पार्टियों (उधारदाताओं) को खत्म कर देगा, इससे उनकी एसेट्स पर असर होगा, और खराब ऋण के प्रावधानों में वृद्धि होगी. इस खबर के सामने आते ही पंजाब नेशनल बैंक के शेयर 10 फीसदी तक टूटे हैं.

PNB Fraud Case: जानिए कौन हैं 11,360 करोड़ का फ्रॉड करने वाले नीरव मोदी, जिनकी कंपनी 50 करोड़ रुपये के हीरे बेचती है