नई दिल्‍ली. मुंबई हमलों से जुड़े लश्‍कर-ए-तय्यबा के आतंकी डेविड हेडली ने पुलिस मुठभेड़ में मारी गई इशरत ज़हां को लश्कर का आतंकी बताया है. अमेरिका में जन्‍मे हेडली ने राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को बताया कि अहमदाबाद में मारी गई इशरत जहां लश्कर की आत्‍मघाती हमलावर थी.
 
एनकाउंटर को लेकर छिड़ा था विवाद 
 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हेडली ने यह बात एनआईए और विधि विभाग की चार सदस्‍यीय टीम से तब साझा की थी जब यह टीम अमेरिका के शिकागो गई थी.
 
गौरतलब है कि इशरत ज़हां के एनकाउंटर को लेकर देश में बड़ा विवाद छिड़ा था. उसे कथित तौर पर लश्‍कर के आत्‍मघाती दस्‍ते का सदस्‍य बताया गया था जिसे लश्‍कर के मुजामिल ने दस्‍ते में शामिल किया था.
 
गुजरात पुलिस के रुख की पुष्टि हुई
 
हेडली के इस खुलासे से गुजरात पुलिस के रुख की पुष्टि हुई है. इशरत के परिवार ने दावा किया था कि इशरत छात्रा थी. परिवार ने इस मामले में कोर्ट में अपील दायर की है.
 
गुजरात पुलिस ने कहा था कि अहमदाबाद में मारे गए आतंकी राज्‍य के तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करने के इरादे से वहां पहुंचे थे.
 
इशरत ज़हां 15 जून, 2004 को जावेद शेख उर्फ प्रणेश पिल्‍लई और दो पाकिस्‍तानी युवक अमजद अली और जीशान जोहर अब्‍दुल गनी के साथ अहमदाबाद के बाहरी इलाके में मुठभेड़ में मारी गई थी. पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार ये सभी लोग एक कार में सवार थे.
 
इशरत की मां शमीमा कौसर ने गुजरात हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी और कहा था कि उनकी बेटी जावेद शेख के परफ्यूम बिजनेस में सेल्‍स गर्ल का काम करती थी.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App