नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना किसी पार्टी का नाम लिए बगैर जागरण फोरम में कहा कि संसद नहीं चलने से गरीबों का हक मारा जा रहा है. कुछ लोग अपनी मर्जी चलाना चाहते हैं. यह बहुत दुख की बात है कि संसद नहीं चल रही है.
 
जिसकी वजह से न सिर्फ जीएसटी बिल अटका है बल्कि गरीबों की भलाई वाले कई कानून लटके हैं. संसद नहीं चलने से गरीबों का हक भी मारा जा रहा है.पीएम ने कहा आज देश के लिए दो खतरे हैं मनतंत्र और मनीतंत्र. मनतंत्र से देश नहीं चलता. मनीतंत्र से भी लोकतंत्र को बचाना होगा. व्यवस्था से जनतंत्र को जोड़ना पड़ता है. सबको साथ लेकर चलना पड़ता है.
 
पीएम मोदी ने कहा कि पहले चुनाव का मतलब पांच साल का कॉन्ट्रैक्ट नहीं होता. हम सभी को इससे आगे बढ़कर सोचने की जरूरत है. पीएम ने कहा कि मोदी स्वच्छता पर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, लेकिन जमीन पर कुछ नहीं हो रहा है, इस सवाल का सीधा जवाब है कि स्वच्छता को सिर्फ सरकार के अभियान के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए, सबको एक साथ आगे आना होगा. 
 
बता दें कि गुरुवार को भी संसद में विपक्ष की ओर से हंगामा जारी रहा और सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के सदस्यों के हंगामे के कारण दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. राज्य सभा में कांग्रेस के सांसद बीजेपी के खिलाफ नारे लगा रहे थे और बदले की राजनीति करने का आरोप लगा रहे थे. 
 
पिछले कई दिनों से संसद में कांग्रेस के सदस्य नेशनल हेराल्ड मामले में कोर्ट की ओर से सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ समन जारी होने को लेकर हंगामा कर रहे हैं. कांग्रेस ने सरकार पर बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App