नई दिल्ली. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी दिल्ली के जाम में सोमवार रात 2 घंटे फंसे तो NHAI अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए. गडकरी ने दिल्ली को जाम फ्री बनाने की रिपोर्ट 15 दिन में अपने टेबल पर मांगी है और दिल्ली-गुड़गांव रोड को 24 घंटे के अंदर जाम फ्री करने कहा है.
 
गडकरी सोमवार की रात दिल्ली-गुड़गांव सीमा पर महिपालपुर इलाके में जाम में फंस गए. सोमवार को दिल्ली में 25 हजार से ज्यादा शादियां थीं जिस वजह से सड़क पर ट्रैफिक बहुत ज्यादा था. गडकरी महिपालपुर के पास जाम में करीब दो घंटे फंसे रहे.
 
दिल्ली सरकार के साथ मिलकर दिल्ली को जाम फ्री बनाएंगे- गडकरी
 
गडकरी ने अधिकारियों को आदेश दिया है कि दिल्ली के ट्रैफिक की स्टडी करके उन्हें 15 दिन के अंदर एक ऐसी रिपोर्ट टेबल पर चाहिए जिसमें दिल्ली में जाम के ब्लैक स्पॉट की लिस्ट हो और उसे कैसे ठीक किया जाएगा, इसका स्पष्ट प्लान हो.
 
गडकरी ने मीडिया से कहा कि उनके पास जब ये रिपोर्ट आ जाएगी तो वो दिल्ली सरकार से भी इसे साझा करेंगे और दिल्ली सरकार के साथ मिलकर वो दिल्ली को जाम फ्री बनाने का काम करेंगे. गडकरी ने भरोसा दिलाया है कि एक से डेढ़ साल में दिल्ली में ट्रैफिक जाम की समस्या आधी हो जाएगी और प्रदूषण में भी कमी आएगी.
 
गडकरी ने जाम पर स्टडी रिपोर्ट के लिए मार्च में दिए थे 10 करोड़
 
गडकरी ने इसी साल लोकसभा में बताया था कि एयरपोर्ट जाने और वहां से लौटने के दौरान धौलाकुआं इलाके में वो कई बार 40-45 मिनट के जाम में फंस चुके हैं. गडकरी ने संसद को बताया था कि जाम की समस्या से दिल्ली को निजात दिलाने के लिए स्टडी रिपोर्ट का आदेश दिया गया है और इसके लिए 10 करोड़ की मंजूरी दी गई है.
 
गडकरी ने तब संसद को बताया था कि जब ये रिपोर्ट आएगी तो उसके हिसाब से दिल्ली सरकार के साथ मिलकर दिल्ली को जाम फ्री बनाने का काम किया जाएगा. ये साफ नहीं है कि वो स्टडी रिपोर्ट आई या नहीं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App