नई दिल्ली. रेल मंत्रालय ने फैसला किया है कि अब से ट्रेन में बच्चों का भी फुल टिकट लगेगा. मंत्रालय ने 5 से 12 साल के बच्चों के लिए हाफ टिकट पर बर्थ देने का सिस्टम खत्म कर दिया है. अगर बच्चों के लिए बर्थ चाहिए तो पैसेंजर्स को पूरे टिकट का पैसा देना होगा. इसका मतलब है कि अब इसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ना तय है. 
 
कब से लागू होगा?
नया नियम अगले साल 10 अप्रैल से लागू होगा. इस बारे में एक सर्कुलर जारी हुआ है. अगर बच्चों के लिए अलग से सीट की मांग नहीं की जाती है तो उनके लिए हाफ टिकट लिया जा सकता है. ऐसी हालत में उनके साथ जाने वाले शख्स या अभिभावक को अपनी सीट शेयर करनी होगी. त्रिचूर रेलवे पैसेंजर्स एसोसिएशन जनरल सेक्रेटरी पी कृष्णाकुमार का कहना है कि नया नियम लागू होने का इंतजार ही किया जा रहा था.
 
क्यों उठाया गया यह कदम
रेलवे का रेवेन्यू बढ़ाना, नई व्यवस्था का मकसद है. रेलवे वेटिंग लिस्ट वाले सभी पैसेंजर्स के लिए सीट का ऑप्शन मुहैया कराने की सोच कर रहा है. इसके लिए भी बच्चों के मामले में मिल रही छूट खत्म की गई है. रेलवे मिनिस्ट्री ने सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉर्मेशन सिस्टम (CRIS) को इस बारे में एक निर्देश जारी किए हैं. CRIS अपने सिस्टम में बदलाव करेगा. इसके बाद बुकिंग के वक्त बच्चों के लिए अलग से सीट लेने या न लेने का ऑप्शन शो होगा. पैसेंजर्स का कहना है कि खासकर छुट्टियों के वक्त आम लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App