अजमेर. आरएसएस से जुड़े संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने मुस्लिम परिवारों से कम बच्चे पैदा करने की अपील की है. अजमेर में चल रहे इस सम्मेलन में असहिष्णुता और आतंकवाद से जुड़े सात प्रस्ताव भी पास किए गए है.

सम्मेलन में बोलते हुए राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने कहा कि बच्चे उतने ही होने चाहिए, जिनकी एजुकेशन और हेल्थ सही तरीके से मैनेज की जा सके. कुछ नेता ज्यादा बच्चे पैदा करने की सलाह देते हैं. इससे नेताओं का वोट बैंक बढ़ जाता है लेकिन, आपके परिवार पर बुरा असर पड़ता है.

उन्‍होंने मुस्लिम समुदाय की तरक्की और खुशहाली के लिए बेटियों की तालीम को सबसे जरूरी बताया है और उनकी उच्‍च शिक्षा के लिए पांच लाख रुपए का वुमन वेलफेयर फंड शुरु करने की बात कही. फंड से मुस्लिम लड़कियों की एजुकेशन पर हर तरह का खर्च किया जाएगा, ताकि उन्हें बीच में पढ़ाई न छोड़नी पड़े.

मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच के नेता मोहम्मद अफजल ने भी कहा कि ज्‍यादा आबादी की वजह से देश के संसाधनों को बंटवारा सही तरीके से नहीं होगा, इसलिए हमारे देश की तरक्की भी सही तरीके से नहीं हो पाई है. उन्होंने कहा कि अगर परिवार छोटा होगा तो बच्चों को अच्छी एजुकेशन और रोजगार मिल सकेगा.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App