चेन्नई. चेन्नई में आज बारिश रुकने और धुप निकलने के चलते पानी का स्तर कुछ कम हुआ है और राहत कार्यों में तेजी आई है. हालांकि दक्षिणी चेन्नई में रात में भी बारिश होती रही और हालात अभी भी मुश्किल बने हुए हैं. बता दें कि आज और कल एराकोणम नेवल बेस से कुछ सीमित कमर्शियल फ्लाइट्स उड़ान भरेंगी. इधर चेन्नई आने वाली पांच ट्रेनें रद्द हो गई हैं और 6 के रूट बदले गए हैं.
 
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बैंकों और बीमा कंपनियों को हर हाल में चेन्नई के बाढ़ पीड़ितों को मदद पहुंचाने के निर्देश दिए हैं. जेटली ने बैंकों को बोट में एटीएम चलाने के लिए कहा है और बीमा कंपनियों को आसानी से बीमा की रकम उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है. इससे पहले गुरुवार को पीएम मोदी ने 1000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज का एलान किया है जिसे तुरंत ही जारी किया जाएगा.
 
अभी तक सेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने 7 हज़ार से ज्यादा लोगों को बचाया है लेकिन अभी भी कई लोग फंसे हुए हैं. शहर में खाने और दूध-पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं की भारी कमी हो गई है. एक लीटर दूध के पैकेज को कई जगहों पर 100 रुपए के भाव बेचा जा रहा है. वहीं एक मिनलर वॉटर जो आमतौर पर 20 रुपए में मिलती है, उसे 150 की कीमत पर बेचा जा रहा है. टमाटर जैसी सब्जियों के भाव 80 से 90 रुपए किलो हैं. बाढ़ में डूबे चेन्नई के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बयान दिया कि यह कहना गलत नहीं होगा कि चेन्नई एक द्वीप बन चुका है और सभी राष्ट्रीय और राज्य राजमार्ग से पूरी तरह से कट चुका है.