भोपाल. भोपाल में निजी कॉलेज को लाभ पहुंचाने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री राजा पटेरिया सहित तीन लोगों के खिलाफ आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) ने गुरुवार को एफआईआर दर्ज की है. ईओडब्ल्यू कार्यालय के अनुसार, भोपाल के आरकेडीएफ इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी द्वारा शैक्षणिक सत्र 2000-2001 और 2001-2002 में अनधिकृत रूप से 12 छात्रों को एडमिशन दिया गया. इस पर राज्य के तकनीकी शिक्षा विभाग के नियमानुसार इस संस्थान को 24 लाख रुपए बतौर डोनेशन जमा करना था.
 
ईओडब्ल्यू के अनुसार, आरकेडीएफ एजुकेशन सोसायटी के कार्यकारी अध्यक्ष सुनील कपूर एवं अन्य के साथ आपराधिक षड्यंत्र में शामिल होकर तत्कालीन तकनीकी शिक्षा मंत्री राजा पटैरिया ने प्रस्तावित 24 लाख रुपये के डोनेशन को घटाकर पांच लाख रुपये करने का प्रस्ताव तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को दिया था.
 
बताया गया है कि दिग्विजय ने प्रस्तावित पांच लाख रुपये के डोनेशन में भी ढाई लाख रुपये की कटौती करने का अनुमोदन किया. इस तरह डोनेशन के तौर पर ली जाने वाली राशि 24 लाख रुपये के बदले इंस्टीट्यूट से सिर्फ ढाई लाख ही रुपये ही लिए गए. इससे राज्य शासन को साढ़े 21 लाख रुपये का नुकसान हुआ.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App