नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा है कि सलमान रश्दी की किताब ‘द सैटेनिक वर्सेज’ पर बैन लगाना राजीव गांधी सरकार की गलती थी.

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि मुझे यह कहने में हिचक नहीं है कि सलमान रश्दी की किताब पर बैन लगाना एक गलती थी.

चिदंबरम ने देश में असहनशीलता का माहौल पैदा होने पर भी अपनी चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में समाज में असहनशीलता बढ़ गई है.

सलमान रश्दी ने खड़े किए सवाल

पी. चिदंबरम के बयान के बाद सलमान रश्दी ने ट्वीट करके सवाल खड़े किए हैं. सलमान रश्दी ने कहा है कि कांग्रेस को अपनी गलती स्वीकार करने में 27 साल लग गए.

बता दें कि राजीव गांधी सरकार ने 1988 में सलमान रश्दी की किताब ‘द सैटेनिक वर्सेज’ पर बैन लगा दिया था. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App